Skip to main content

Love Affairs Unique Crime...Case Study

   
 
          मामला बड़ा संजिदा है कि कानून व्यवस्था दुरुस्त होते हुऐ भी क्राइम रूकने का नाम नही ले रहा है।
अधिकतर कई मामले प्रेम-प्रसंग से सम्बन्धित होते है यही से एक अनूठे क्राईम की शुरूआत होती है।

The matter is a big conspiracy that even after the law system has been amended, the crime is not named.



Most of the cases are related to love affairs and this is the start of a unique crime.

कानून व्यवस्था को चाहिये की पहले मामले की जाचँ करे जिससे निर्दोशों को राहत मिले ।

Law enforcement should first look into the matter and get relief from the innocent.




इस मामले में काफी हद तक युवक-युवतियों का परिवेश व पारिवारिक संस्कार तथा टीवी सीरीयल व अनघड़ तथा अश्लील फिल्में भी जिम्मेदार है।
इस प्रकार के मामले में प्रशासन अथवा सामाजिक संस्थाओ को आगे आकर जागरूकता अभियान चलाना चाहिये एसा मेरा मानना है-

In this case, it is largely responsible for the environment and family rituals of young men and TV serials and unreasonable and obscene films. In this case, the administration or social institutions should come forward and conduct awareness campaigns, I believe in this.


इस विषय में आपका क्या मानना है अपनी राय अवश्य दे--

You have to give your opinion on what you believe in this subject-




Popular posts from this blog

UPSSSC Forest Guard Online Form 2019 Apply now.

UPSSSC
Post Name – Forest Guard Online Form 2019
IMPORTANT DATES
• Starting Date – 18-07--2019Fee Payment Last Date – 08-08-2019Last Date To Apply – 08-08-2019Correction last Date – 16-08-2019Admit Card  Available - Available Soon .....................................................................................................................................................

राजा दिलीप की कथा... “रघुवंशम” एक विचित्र सार.....पढ़े क्या है रहस्य

*रघुवंश का आरम्भ राजा दिलीप से होता है । जिसका बड़ा ही सुन्दर और विशद वर्णन महाकवि कालिदास ने अपने महाकाव्य रघुवंशम में किया है । कालिदास ने राजा दिलीप, रघु, अज, दशरथ, राम, लव, कुश, अतिथि और बाद के बीस रघुवंशी राजाओं की कथाओं का समायोजन अपने काव्य में किया है। राजा दिलीप की कथा भी उन्हीं में से एक है।*


*राजा दिलीप बड़े ही धर्मपरायण, गुणवान, बुद्धिमान और धनवान थे । यदि कोई कमी थी तो वह यह थी कि उनके कोई संतान नहीं थी । सभी उपाय करने के बाद भी जब कोई

क्रोध के दो मिनट......पढे प्राचीन परन्तु विचारणीय कहानी....

एक युवक ने विवाह के दो साल बाद
परदेस जाकर व्यापार करने की
इच्छा पिता से कही ।

पिता ने स्वीकृति दी तो वह अपनी गर्भवती
पत्नी को माँ-बाप के जिम्मे छोड़कर व्यापार
करने चला गया ।

परदेश में मेहनत से बहुत धन कमाया और
वह धनी सेठ बन गया ।
सत्रह वर्ष धन कमाने में बीत गए तो सन्तुष्टि हुई
और वापस घर लौटने की इच्छा हुई ।


पत्नी को पत्र लिखकर आने की सूचना दी
और जहाज में बैठ गया ।